संदेश

June 8, 2008 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

टी आर पी का भूत

ख़बर है कि आरुशी हत्या कांड ने टी आर पी के तमाम रिकॉर्ड को पीछे छोड़ दिया है , यहाँ तक की आई पी एल के २०-२० मैच भी ये टी आर पी हासिल नहीं कर पाई थी। बालाजी प्रोडक्शन कम्पनी इसी टी आर पी को झटकने के लिए आरुशी हत्या कांड को बेचने का मन बना लिया था। इसी टी आर पी के कारन उत्तर प्रदेश के आला पुलिश ऑफिसर के अलावा कई पुलिस अहलकार नप गए । देश की सबसे तेज तरार समझे जाने वाली जांच एजेन्सी सी बी आई भी इस टी आर पी के घेरे में फस्ती नजर आ रही है । जांच मे लगे दो अफसरों को विश्राम करने के लिए कहा गया है। यानि टी आर पी का यह खेल ने पूरे सिस्टम को अपने गिरफ्त में ले लिया है ।
यह टी आर पी का ही खेल है कि आप घर पर जैसे ही रिमोट उठाते है कि देखें देश दुनिया का हाल , आप को पता चलता है कि साई बाबा बोलने लगे है । किसी चैनल पर आप को यह बताया जाता है कि यह मक्कारी है, यह भ्रम फैलाने कोशिश है, ये हजारो लाखो भक्तों का अपमान है । टी आर पी के युद्ध में फसे इन चैनल से आप आगे बढ़ते हैं तो अगले चैनल पर आपको यह बताया जाता है कि एक लड़की ने कैसे अपने अपमान का बदला लेने के लिए दुबारा धरती पर नागिन के रूप में जनम लिया है…