संदेश

July 12, 2009 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

कौन है ये नक्सल ! पहचानने की कोशिश में लगी है सरकार

चित्र
पशुपति से लेकर तिरुपति तक रेड कोरिडोर बनाने का नक्सालियों का सपना लगभग पूरा होते हुए दिख रहा है । पिछले दस वर्षों में जितना आधार भारत में माओवादियों ने बढाया है वैसा आधार किसी और सियासी पार्टी ने नही बढ़ा पाई है । प बंगाल ,बिहार ,झारखण्ड ,उड़ीसा ,छत्तीसगढ़ ,आँध्रप्रदेश के आलावा महाराष्ट्र ,कर्नाटका ,उत्तरप्रदेश ,मध्य प्रदेश में तेजी से फ़ैल रहे नक्साली आन्दोलन ने सीधे तौर पर शाशन को अपनी सत्ता का एहसास दिलाया है । देश के तक़रीबन ६०० जिलों में १८० जिलो में या तो नक्सालियों का कब्जा है या फ़िर उनके दबदवे के सामने स्थानीय प्रशाशन लाचार है । पहलीबार देश के किसी गृह मंत्री ने ईमानदारी से यह कबूल किया है कि नक्सालियों को हमने लगातार अंडर एस्टिमेट किया है । पी चिदंबरम यह बात तब कह रहे है जब उनके ही शाशन काल में नक्सालियों ने ४६० से ज्यादा लोगों को मौत के घाट उतार दिया है ।उनके ही गृह मंत्री रहते हुए नक्सालियों ने ११३७ वारदातों को अंजाम देकर ३०० से ज्यादा सुरक्षाकर्मियों को शहीद कर दिया है । देश के कई हिस्से को नक्सालियों ने अपना लिबरेटेड ज़ोन घोषित कर वहां अपनी हुकूमत चला रखा है । परमाणु अस्त्…