पोस्ट

जुलाई 15, 2018 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

चुनावी एजेंडे में गुम हो रही है नए भारत की कहानी

इमेज
आज के दिन देश के 4 लाख गाँव खुले में शौच से मुक्त हो चुके हैं। अबतक देश के 417 जिले और 19 राज्यों ने भी खुले में शौच से मुक्ति का एलान कर दिया है।  भारत के लगभग 90 फीसद भूभाग पर स्वच्छ भारत अभियान ने किला फतह कर लिया है। लेकिन यह जानकर हैरानी होगी कि इसमें सरकार के 12000 रूपये से ज्यादा सहयोग 95  वर्ष की कुंवर बाई  की है जिसकी प्रेरणा से उनका  पूरा गाँव ओ डी एफ हो गया। बिहार के सीतामढ़ी के गाँव में 12 -15 साल  क़े किशोरों की टोली ने सीटी बजाकर  लोगो को खुले में शौच जाने की गन्दी आदत को छोड़ने के लिए मजबूर कर दिया। वही डीएम रंजीत कुमार जिले में  स्वच्छाग्रही बनकर हर घर में शौचालय निर्माण को संभव बनाया। सुबह सवेरे सड़क के किनारे गश्त लगाकर बैठे डीएम को लोगों ने भले ही न पहचाना हो लेकिन बिहार के इस पिछड़े जिले में लोगों ने उनकी बात सुनी और सीतामढ़ी बिहार का पहला ओ डी  एफ  जिला बन गया । ऐसे अनेको कहानियाँ है जिसने स्वच्छ भारत अभियान को विश्व का सबसे असरदार  बेहेवियर चेंज का  आंदोलन बना दिया है उसमे आपके घर के बच्चों का भी योगदान है । लेकिन मीडिया और सोशल मीडिया में किसी टूटे हुए शौचालय  और कच