पोस्ट

नवंबर 4, 2018 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

अयोध्या में दीपोत्सव यानी राजीव गाँधी के रामराज्य का शंखनाद !

इमेज
1989 में पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गाँधी ने अयोध्या से चुनावी रैली की शुरुआत की थी और  "रामराज्य" लाने का संकल्प दोहराया था। लेकिन पिछले वर्षो में ऐसा क्यों हो रहा है कि  जब कभी भी बात "अयोध्या" और रामलला की होती है  तो बहस सेक्युलर कम्युनल पर टीक जाती है । कौन हैं ये लोग जनमानस के राम को टीवी स्टूडियो में बैठा दिया है। पहलीबार   अयोध्या में आयोजित   भव्य दीपोत्सव में दक्षिणी कोरिया की प्रथम महिला किमजोंग सुक  मुख्य अतिथि के रूप में पधार रही हैं । आयोजन में दुनियाभर  के करीब 900 कलाकार प्रस्तुति देंगे ।  इंडोनेशिया के रामलीला के कलाकार  ओर श्रीलंका, रूस व त्रिनिदाद सहित अलग-अलग महाद्वीपों के कुल सात सौ कलाकार अपनी प्रस्तुति से भारत से अपने संस्कृति के रिश्तों की डोर मजबूत करेंगे।इस  भव्य दीपोस्तव के आयोजन में राम के घर वापसी का भाव है अयोध्यावासी की ख़ुशी में दुनियाभर से लोग पहुँच रहे हैं ।  फैजाबाद से गुजरती हुई ट्रेन में किसी यात्री ने कहा हम अयोध्या पहुंच गए हैं। सीट से जल्दी में उतरते हुए मैंने अपनी मां से पूछा था ,क्यों नीचे आ रही हो ?,माँ ने कहा था राज